Indian Bookstore Online, Buy Books Online India, Online Books Shopping

Karwat

Rs277

Availability: Available

Usually dispatched within 24 hours

(+Rs. 49 Delivery Charges)
Free Shipping if total order amount is Rs . 300 or more.
Publisher

Rajpal & Sons (Rajpal Publishing)

Publication Year 1997-04-25
ISBN-13

ISBN 9788170281368

ISBN-10 8170281369
Binding

Hardcover

Number of Pages 360 Pages
Language Hindi

प्रसिद्ध ले-क ...मृतलाल ना--र की कलम से, वर्षों की तैयारी "र श्रम से लि-ा, यह बृहद राष्ट्रीय उपन्यास प्रस्तुत है-जिसमें ब्रिटिश राज के दो सौ वर्षों की ऐतिहासिक भूमिका में भारतीय समाज-जीवन की प्रभावी परिवर्तन-कथा ...ंकित है।

जीवन "र समाज की यह करवट ...पने पीछे क्या-कुछ छिपाये है, यह सब आज हमारे लिए आश्चर्य की बातें हो सकती हैं, परन्तु यही है वह जिसकी पीठिका पर आज हमारा समाज -ड़ा है। ना--र जी ने ...पने चिर-परिचित "र प्रिय, ल-नऊ, "र उसमें भी ...पने ही मुहल्ले चैक को, केन्द्र मानकर व्यापक फलक पर नवाब वाजिद ...ली शाह उर्फ जानेआलम पिया के समय से कथानक को उठाया है, "र नायक तनकुन के माध्यम "र विभिन्न धरातलों पर ...ं--्रेजों के साहचर्य से संपन्न उस समस्त प्रक्रिया को व्यक्त किया है जो क्रमिक परिवर्तन का साधन बनी। वाजिद ...ली शाह से आरंभ होकर यह कथा उन्नीसवीं शताब्दी केक ...ंत तक चलती है, "र इसका फलक ...ं--्रेजों की तत्कालीन राजधानी कलकत्ता से दिल्ली "र लाहौर तक विस्तृत है।