Hriday Rog Kya Hai: And How To Manage it At All Times (Hindi)

Author:

Dhramveer

Publisher:

V & S Publisher

Rs171 Rs295 42% OFF

Availability: Available

Publisher

V & S Publisher

Publication Year 2016
ISBN-13

9789381448519

ISBN-10 9381448515
Binding

Paper Back

Edition First
Number of Pages 156 Pages
Language (Hindi)
Dimensions (Cms) 21.5x14x0.9
Weight (grms) 200

यह पुस्तक एक हृदय रोगी के व्यक्तिगत अनुभव का परिणाम है, जिसने अथक प्रयास के बाद अंततः बीमारी पर काबू पा लिया। उन्होंने अध्ययन किया कि दिल का दौरा क्यों होता है और कैसे स्थितियों से बचा जा सकता है। यह भी समझने की कोशिश की जब्ती के मामले में क्या सावधानियां बरतनी चाहिए, ताकि भविष्य में एक और हमला न हो। इसके लिए, लेखक ने हृदय रोग के क्षेत्र में चल रहे शोध और अनुसंधान का विस्तार से अध्ययन किया। कई केस हिस्टरी पढ़े। कई हृदय रोगियों के साथ चर्चा की और यह भी सीखा कि कैसे फिट रहकर जीवन शैली में सुधार किया जाए। देश के प्रख्यात हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. आरके मधोक के दिशा-निर्देशों के आधार पर, उन्होंने ऐसी सामग्री प्रदान की, जिसे अपनाने पर, हृदय रोग में विस्तार नहीं होता है और दौरे पड़ने की संभावना कम हो जाती है। हृदय रोग वास्तव में घातक है। इसका इलाज बहुत महंगा और आम आदमी की पहुंच से बाहर माना जाता है। ऐसी स्थिति में, यह पुस्तक निश्चित रूप से दिल की बीमारी से बचने और दिल का दौरा पड़ने के बाद स्वस्थ जीवन जीने के लिए उपयोगी होगी।

Dhramveer