Kabir Chaura (Hindi)

Author:

Dr. Mahruddin Khan

Publisher:

V & S Publisher

Rs221 Rs295 25% OFF

Availability: Available

    

Rating and Reviews

0.0 / 5

5
0%
0

4
0%
0

3
0%
0

2
0%
0

1
0%
0
Publisher

V & S Publisher

Publication Year 2013
ISBN-13

9788192079615

ISBN-10 8192079619
Binding

Paperback

Edition First
Number of Pages 112 Pages
Language (Hindi)
Dimensions (Cms) 21X10.5X0.8
Weight (grms) 100

कबीर-चौरा को यदि कविता माना जाये, तो यह हर आम व खास आदमी से सम्बन्धिा उन विषयों पर गुदगुदाती है, जिनसे उनका वास्ता पड़ता हो। महँगाई, अशिक्षा, बीमारी, बेकारी, मच्छर, मलेरिया आदि समस्याएँ हों या नेताओं की करतूत हो या राजनीतिक उठापटक और स्वार्थ, इन सब पर सरल भाषा में चुटीला व्यंग्य कबीर-चौरा की खासियत है। कबीर-चौरा न केवल पाठक का मनोरंजन करता है, अपितु व्यवस्था की उन सच्चाइयों को भी नंगा करता है, जिनके आधार पर लोकतन्त्र के लोग यानी आम आदमी को भरमाया जाता है, उसे सुनहरे सपने दिखाकर अपने आन्दोलनों में शामिल होने के लिए गरमाया जाता है और बाद में उसे ही गलत साबित कर शरमाया भी जाता है। इस प्रकार कबीर-चौरा एक ऐसा आईना है, जो व्यवस्था के पोषक सभी तत्त्वों को उनका असली रूप दिखाता है। 15 जनवरी 1944 को जन्मे डॉ. महरुद्दीन खाँ ने नवभारत टाइम्स, दिल्ली में 15 वर्ष तथा 7 वर्ष तक शाह टाइम्स में पत्रकारिता एवं 17 वर्ष तक प्राथमिक से लेकर स्नातक स्तर तक अध्यापन-कार्य किया है। इनके अनेक उपन्यास व व्यंग्य-संग्रह विभिन्न प्रकाशनों से प्रकाशित हुए हैं। सहारा टी.वी. पर चुनाव-चालीसा और साधना-न्यूज व इण्डिया टी.वी. पर भी अनेक कार्यक्रम प्रसारित हुए हैं। नवभारत टाइम्स दिल्ली में प्रकाशित नियमित दैनिक स्तम्भ ‘कबीर-चौरा’ का यह पुस्तकाकार स्वरूप है, जिसमें दोहे, कुण्डलियों और कवित्त के माध्यम से वर्तमान परिवेश को स्पर्श करती रचनाओं का संकलन है। अब तक लगभग प्रमुख समाचार-पत्रें एवं पत्रिकाओं में विभिन्न विषयों पर इनके सैकड़ों लेख व कविताएँ प्रकाशित हैं।

Dr. Mahruddin Khan

15जनवरी 1944 को जन्मे मेहरुद्दीन खां ने नवभारत टाइम्स, दिल्ली में 15 वर्ष तथा 7 वर्ष तक प्राथमिक से लेकर सनातक स्तर तक अध्यापन किया हैं। अब तक लगभग प्रमुख समाचार - पत्रों एवं पत्रिकाओं में विभिन विषयो पर सैकड़ो लेख व कविताएं प्रकाशित हो चुकी हैं।
No Review Found