Matrikala – Kya Aap Ma Banane Ja Rahi Hai…? (Hindi)

Author:

V&S Editorial Board

Publisher:

V & S Publisher

Rs169 Rs225 25% OFF

Availability: Available

    

Rating and Reviews

0.0 / 5

5
0%
0

4
0%
0

3
0%
0

2
0%
0

1
0%
0
Publisher

V & S Publisher

Publication Year 2015
ISBN-13

9789350571170

ISBN-10 935057117X
Binding

Paperback

Edition First
Number of Pages 278 Pages
Language (Hindi)
Dimensions (Cms) 23.7X16X1.2
Weight (grms) 386

मातृकला की राह में अग्रसर स्त्री को गर्भावस्था के दौरान कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उसके कोमल मन में तरह-तरह के सवाल उठते रहते हैं। प्रस्तुत पुस्तक में लेखिका ने गर्भावस्था के दौरान प्रसूति के वजन में वृद्धि, संतुलित आहार, विटामिन्स, आवश्यक शारीरिक जाँच, शारीरिक परिवर्तन तथा प्रसव के पूर्व होने वाली प्रत्येक समस्या के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी है। यदि प्रत्येक गर्भवती को प्रसव के दौरान होने वाली परेशानियों की प्रर्याप्त जानकारी हो तो यकीनन उसका प्रसवकाल तनावपूर्ण होने की अपेक्षा आसान बन सकता है। पुस्तक में प्रसव के उपरांत वजन को कम करने सम्बन्धित आवश्यक व्यायामों की चित्रों सहित जानकारी दी गई है जिन्हें अपनाकर प्रत्येक प्रसूति गर्भकाल तथा प्रसव के दौरान मानसिक तथा शारीरिक रूप से अधिक चुस्त-दुरुस्त रह सकती हैं। मातृकला पुस्तक की प्रमुख विशेषताएँ: * गर्भावस्था के लक्षणों की जानकारी * गर्भावस्था के दौरान प्रसूति की देखभाल/खानपान * योगासन व व्यायाम * गर्भावस्था की समस्याएँ एवं उसके सरल समाधान * कुछ अनजाने प्रश्नों के सरल उत्तर * स्तनपान, शिशु में होने वाले रोग व उसके उपचार * गर्भावस्था से जुड़े मिथक 

V&S Editorial Board

No Review Found
More from Author