Striyan Parde Se Prajatantra Tak

Author:

Dushyant

Publisher:

Rajkamal Parkashan Pvt Ltd

Rs695

Availability: Available

Shipping-Time: Usually Ships 1-3 Days

    

Rating and Reviews

0.0 / 5

5
0%
0

4
0%
0

3
0%
0

2
0%
0

1
0%
0
Publisher

Rajkamal Parkashan Pvt Ltd

Publication Year 2012
ISBN-13

9788126722907

ISBN-10 9788126722907
Binding

Hardcover

Number of Pages 248 Pages
Language (Hindi)
Dimensions (Cms) 20 x 14 x 4
Weight (grms) 1000
Book discription is not available

Dushyant

आधुनिक भारतीय इतिहास में डॉक्टरेट दुष्यन्त अखबार में फीचर एडिटर रहे। उनकी कविता, कहानी, अनुवाद, इतिहास आदि विधाओं में दस किताबें पेंगुइन सहित कई नामी प्रकाशकों से प्रकाशित हुईं और चर्चा में रही हैं। पहला कहानी संग्रह पेंगुइन से अप्रैल 2013 में जुलाई की एक रात नाम से आया था जिसे बीबीसी हिंदी ने उस साल की खास किताबों में शामिल किया था। उनकी कहानी “कबूतर” का अंग्रेजी अनुवाद भारत-पाकिस्तान के चुनिंदा कहानीकारों की कहानियों के संकलन (संपादक-पाकिस्तानी पत्रकार-लेखक सेहर मिर्ज़ा) में शामिल किया गया। वे दैनिक भास्कर, अमर उजाला और नवभारत टाइम्स जैसे कई बड़े अखबारों के कॉलमिस्ट भी रहे हैं। संप्रति वे फिल्मों से जुड़े हैं, पटकथा और गीत लेखन में सक्रिय हैं।
No Review Found
More from Author