ख़ुशी के 7 कदम

Author:

Pavitra Kumar Sharma

Publisher:

V & S Publisher

Rs156 Rs195 20% OFF

Availability: Available

    

Rating and Reviews

0.0 / 5

5
0%
0

4
0%
0

3
0%
0

2
0%
0

1
0%
0
Publisher

V & S Publisher

Publication Year 2013
ISBN-13

9789381588246

ISBN-10 9381588244
Binding

Paperback

Edition FIRST
Number of Pages 127 Pages
Language (Hindi)
Dimensions (Cms) 21x13x0.5
Weight (grms) 124

खुशी, प्रेम, दया और मन की शान्ति ये सभी ईश्वर की ओर से मानव को मिले हुए अनमोल वरदान हैं। सृष्टि का प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन में मन की प्रसन्नता चाहता है। खुशी कोई ऐसी वस्तु नहीं है, जिसे बाजार से खरीदा जा सके। तब यह खुशी मिलेगी कैसी? मन की सच्चाई, सफाई, ईमानदारी और वफादारी की उज्ज्वल भावनाएँ मन की खुशियों के मूल स्रोत हैं। संसार के अधिकतर लोग अपने जीवन की खुशी घर से बाहर खोजने का प्रयास करते हैं, किन्तु उन्हें वास्तविक खुशी नहीं मिलती। मन से जब खुशी गायब होती है, तब व्यक्ति को अनेक चिन्ताएँ और इच्छाएँ परेशान करने लगती हैं। 


खुशी बच्चों की निर्मल हँसी की तरह सभी को लाभ देती है। क्योंकि बच्चों के अन्दर सयानों की भाँति क्लिष्टता, दुरूहता, चालाकी या सयानापन नहीं है। वे अपनी खुशी बाँधकर नहीं रखते, सबके सामने अपनी खुशी को प्रकट करते हैं। 


आप भी सदैव खुश रह सकते हैं। इसके लिए लेखक ने ‘सात उपाय’ सुझाये हैं, जो ‘खुशी के 7 कदम’ शीर्षक से पुस्तक के रूप में आपके समक्ष प्रस्तुत है। लेखक ने खुशी के जिन सात कदमों का विवेचन किया है वे हैं 



  • खुशी को मिल कर बाँटिए 

  • ईर्ष्या न करें 

  • सबको आदर, सबको स्नेह दें 

  • आध्यात्मिकता में रुचि 

  • स्वाध्याय में रुचि 

  • मन का सामंजस्य 

  • सहनशीलता। 


उपर्युक्त सातों उपाय अपना कर आप भी अपने जीवन में खुशियों का बगीचा लगा सकते हैं और सदा प्रसन्न रह सकते हैं। जीवन में खुशियाँ पाने के लिए इस पुस्तक ‘खुशी के 7 कदम’ को अवश्य पढें। 

Pavitra Kumar Sharma

No Review Found
More from Author