Bhavishya Janne Ki Saral Vidhi (Hindi)

Author:

Tilak Chand ' Tilak '

Publisher:

V & S Publisher

Rs115 Rs195 41% OFF

Availability: Available

Publisher

V & S Publisher

Publication Year 2018
ISBN-13

9789381448045

ISBN-10 9381448043
Binding

Paper Back

Edition First
Number of Pages 122 Pages
Language (Hindi)
Dimensions (Cms) 21.7X14X0.6
Weight (grms) 168

जन्म कुंडली में विभिन्न ग्रहों की स्थिति के आधार पर व्यक्ति का निर्माण किया जाता है। इनके अनुसार ग्रहों के विभिन्न योग बनते हैं। इन योगों के कुछ निश्चित परिणाम होते हैं, अर्थात् फल, जिस पर व्यक्ति के जीवन की घटनाएँ - दुर्घटनाएँ, लाभ - हानियाँ आसानी से पढ़ी जा सकती हैं। ऐसे योगों का संग्रह महत्वपूर्ण है।खुशी के उच्च योगों और सूचना के उच्च अधिकारियों के रूप में पावर योग निहित है। इसी तरह, 137 अजीबोगरीब फॉर्मूले अचानक से मिलते हैं, दफनाया जाता है - छिपे हुए पैसे आदि को खोजना, शिक्षा से संबंधित प्रसिद्धि और सूत्रीकरण का भी वर्णन किया गया है। कुल मिलाकर, 891 योगों का पदानुक्रमित वर्गीकरण और जीवन के महत्वपूर्ण प्रश्न।

Tilak Chand ' Tilak '

अनुभवी ज्योतिष तिलक चंद्र तिलक श्रेष्ट हस्त रेखा विशेषज्ञ तिलक चंद्र तिलक की प्रवति एक अनुसंधनातकर्ता की तरह हैं। इसी कारण वह वर्षफल बताने की नयी पद्ति का निर्माण करने में सफल हो सके। ज्योतिष सम्बन्धी उत्तर व दक्षिण भारत के महान ग्रंथो के अधयेता ने 'फलित ज्योतिष रेडिकनर ' तथा 'आओ ज्योतिष सीखे' जैसी पुस्तके लिखकर प्रमाणित कर दिया हैं की गूढ़ विषयो को आसानी से सीखा जा सकता हैं।
More from Author