होम्योपैथी चिकित्सा

Author:

Swami Ramesh Chandra Shukla

Publisher:

V & S Publisher

Rs171 Rs295 42% OFF

Availability: Available

Publisher

V & S Publisher

Publication Year 2017
ISBN-13

9789350571897

ISBN-10 9350571897
Binding

Paper Back

Edition FIRST
Number of Pages 160 Pages
Language (Hindi)
Dimensions (Cms) 21x13x0.5
Weight (grms) 184

आज की आधुनिक जीवनशैली जाने अनजाने कई रोगों को जन्म दे रही है, जिनमें मधुमेह, रक्तचाप, हृदयरोग, कैंसर आदि प्रमुख हैं। ये सभी तनाव जनित रोग हैं। जिन रोगों का स्थायी समाधान एलोपैथी में नहीं है, उसका समाधान होमियोपैथी के इलाज द्वारा संभव है। होमियोपैथी चिकित्सा अन्य चिकित्सा पद्धतियों की अपेक्षा कम खर्चीली और आसान है। सुविधा और सुरक्षा की दृष्टि से भी होमियोपैथी आम आदमी के लिए अनुकूल है। आज के डाक्टर मरीजों के इलाज में खर्चीले टेस्ट लिखते हैं, किन्तु होमियोपैथी चिकित्सा में ऐसी जाँचों को विशेष महत्त्व नहीं दिया जाता है। इस पद्धति में साइड इफेक्ट्स की संभावना भी न के बराबर है। एलोपैथी में छोटे से छोटे इलाज भी महँगे और जटिल हैं। आप किसी भी अस्पताल में जायें, संतोषजनक उपचार के अभाव में आपको निराश होना पड़ सकता है, लेकिन होमियोपैथी के इलाज में सभी रोगों का उपचार कम खर्च में ही संभव है। प्रस्तुत पुस्तक में असाध्य रोगों के उपचार से सम्बन्धित होमियोपैथी के 77 प्रमुख औषधियों के विवरण सरल एवं आसान हिन्दी भाषा में दिये गये हैं। होमियोपैथी औषधि का प्रयोग बड़ों के साथ-साथ शिशुरोग के निदान में अत्यंत प्रभावशाली है। होमियोपैथी ने कई जटिल बीमारियों जैसे बवासीर, मस्से आदि रोगों में रोगियों को सर्जरी से स्थाई मुक्ति दे दी है। यह सभी इलाज अचूक तथा आजमाए हुए हैं। 


होमियोपैथी चिकित्सा के लेखक स्वामी आर. सी. शुक्ल की दो पुस्तकें 'Yogasanas and Pranayama' एवं 'Reiki and Alternative Therapies' हमारे प्रकाशन द्वारा पहले ही प्रकाशित की जा चुकी है। जिसे पाठकों द्वारा भरपूर सराहना मिली हैं। 

Swami Ramesh Chandra Shukla

Swami Ramesh Chandra Shukla is a renowned Yoga Guru, Reiki Grand Master, Spiritual Healer and Author of books on Reiki, Kundalini and Yoga. He is a true Vedantin, Theosophist, Osho Sanyasin and Kriya Yoga Sadhak. He is an EFT, Theta Healing, Past Life Regression and multi-dimensional guide, as well as a spiritual healer certified by the Theosophical Order of Services in India. His Yoga centre was established in Lucknow in 1997 and is widely known across the world. Swamiji has been awarded by the Chief Minister of Uttar Pradesh and the Speaker of the Legislative Assembly for his notable and rare contributions in the field of Yoga.
More from Author