Babylon ka Sabse Ameer Aadmi (Hindi)

Author:

George Samuel Clason

Publisher:

Manjul Publishing House

Rs166 Rs195 15% OFF

Availability: Available

    

Rating and Reviews

0.0 / 5

5
0%
0

4
0%
0

3
0%
0

2
0%
0

1
0%
0
Publisher

Manjul Publishing House

Publication Year 2020
ISBN-13

9788183220194

ISBN-10 8183220193
Binding

Paperback

Edition Seventeenth
Number of Pages 170 Pages
Language (Hindi)
Dimensions (Cms) 20 X 13 X 1.3
Weight (grms) 162

बैबिलॉन का सबसे अमीर आदमी आर्थिक सफलता के शाश्वत रहस्य धन-दौलत पर लिखी सबसे प्रेरक पुस्तक लाखों लोगों ने इस पुस्तक को पसंद किया है I इस पुस्तक में दिए गए सिद्धांतों का प्रयोग करके आप अपनी इच्छाओं को पूरा कर सकते हैं और अपने सपनों को साकार कर सकते हैं और अपने सपनों को साकार कर सकते हैं I इस पुस्तक में दौलतमंद बनने का रहस्य बताया गया है I आर्थिक सफलता के शाश्वत रहस्य सुख-समृद्धि की निश्चित राह बैबिलॉन की मसहूर कहानियों ने अनगिनत पाठकों की मदद की है I धन, आर्थिक योजना और व्यक्तिगत दौलत के विषय पर इसे सर्वश्रेष्ठ प्रेरक पुस्तक कहा जाता है I आसान भाषा में लिखी दिलचस्प और ज्ञानवर्धक कहानियाँ आपको दौलत की राह पर ले जाती हैं तथा सुख की मंज़िल तक पहुँचाती है I इस बेस्टसेलर में आपको अपनी आर्थिक समस्याओं के ऐसे समाधान मिलेंगे, जो ज़िन्दगी भर आपके काम आएँगे I इसमें धन कमाने, धन का संग्रह करने और धन बढ़ने के अचूक रहस्य बताए गए हैं I

George Samuel Clason

जॉर्ज सैम्यूअल क्लासन का जन्म लूसियाना, मिसूरी में नवंबर 1874 में हुआ I उन्होंने नेब्रास्का यूनिवर्सिटी में शिक्षा ली और स्पेनिश-अमेरिकन युद्ध के दौरान अमेरिकी सेना में काम किया I वे एक सफल व्यवसायी थे और उन्होंने डेनवर, कोलोरेडो में क्लासन मैप कंपनी शुरू की, जिसने अमेरिका तथा कनाडा का पहला रोड एटलस प्रकाशित किया I 1926 में उन्होंने बचत और आर्थिक सफलता की पहली कहानी लिखी, जिसके पात्र प्राचीन बेबिलॉन के थे I इन कहानियों को बैंकों तथा बीमा कंपनियों ने बड़ी संख्या में अपने ग्राहकों में बाँटा I लाखों लोगों ने इन कहानियों की पढ़ा और इनसे लाभ उठाया I इन कहानियों को पढ़ा और इनसे लाभ उठाया I इन कहानियों में सबसे प्रसिद्द कहानी "बैबिलॉन का सबसे अमीर आदमी" है, जो इस पुस्तक का शीर्षक है I बैबिलॉन की ये कहानियाँ आधुनिक युग की प्रेरक क्लासिक का दर्जा पा चुकी हैं I
No Review Found
More from Author