Prerak Sukti Kosh (Hindi)

Author:

Dr. Prakash Chandra Gangrade

Publisher:

V & S Publisher

Rs115 Rs195 41% OFF

Availability: Available

Publisher

V & S Publisher

Publication Year 2018
ISBN-13

9789381448656

ISBN-10 9381448655
Binding

Paper Back

Edition First
Number of Pages 144 Pages
Language (Hindi)
Dimensions (Cms) 22X14X0.7
Weight (grms) 198

विश्व के महान् दार्शनिकों, विचारकों, विद्वानों, आचार्यों, मनीषियों, चिंतकों के कथन सदा से ही प्रेरणादायक, निर्माणकारी एवं मार्गदर्शक रहे हैं। ये छोटे-छोटे वचन अपने आप में अनूठी ऊर्जा का स्रोत होते हैं और मनुष्य के जीवन में निश्चय ही उजाले भरने की क्षमता रखते हैं। ऐसे असंख्य कथन बिखरे पड़े होते हैं। इनका संदर्भ के रूप में उपयोग हो सके, इसके लिए इनका एक स्थान पर संकलन आवश्यक हो जाता है। ‘प्रेरक सूक्ति कोश’ इसी उद्देश्य को पूरा करता है। इसमें सभी विषय अकारादि क्रम से दिए गए हैं। कोई भी इच्छुक व्यक्ति अपने ‘वर्ण्य विषय’ को बहुत आसानी से खोज कर उसे याद कर सकता है। यह सूक्ति कोश छात्रों, उपदेशकों, लेखकों, पत्रकारों, भाषणकर्त्ताओं, प्रवक्ताओं, राजनेताओं, सुधारकों, राष्ट्र प्रमुखों के अतिरिक्त सभी जन-सामान्य के लिए उपयोगी है। ये सूक्तियां आपके लेख, वक्तव्य, बातचीत, वार्ता आदि को सार्थक और सारगर्भित बनाती हैं तथा हर क्षण आपको सही दिशा की ओर बढ़ने की प्रेरणा देती रहती हैं। आइए, आप भी इनका उपयोग कर जीवन को सफ़ल बनाएं। 

Dr. Prakash Chandra Gangrade

डॉ. प्रकाशचंद्र गंगराड़े की लगभग 350 रचनाओं ने देश की अनेक प्रतिष्ठा पत्र-पत्रिकाओं मे स्थान बनाया है। यूनीवार्ता एवं पब्लिकेशन सिटीकेट जैसी एजेंसियों के माध्यम से भी इनकी रचनाएं प्रकाश मे आई है। आकाशवाणी भोपाल केंद्र से इनकी 75 से अधिक वार्ताएं प्रसारित हो चुकी है। विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओ मे अनेक पुरस्कार प्राप्त कर इन्होने विघारत्न, साहित्यालंकार, साहित्य कला विघालंकार, साहित्यश्री जैसी उपाधियाँ प्राप्त करने मे भी सफलता पाई है। अपने सुलेखन के लिए सभी के बीच निरंतर प्रशंशित हुए है।
More from Author